कोई बिना काम ही शहर को देखने के लिए निकल पड़ा है कफ्र्यू को ही अंतिम उपचार माना है (पढे़ पूरी खबर)

0
news bikaner darpan

बीकानेर, (बीकानेर दर्पण न्यूज)। प्रदेश में लॉक डाउन के पहले ही दिन सरकारी मशीनरी पूरी तरह फैल हो चुकी है। लोगों की लापरवाही का आलाम यह है कि जगह-जगह मुस्तैद पुलिस को भी धत्ता बताते हुए चल रहे हैं। किसी ने मास्क नहीं पहना है तो कोई बिना काम ही शहर को देखने के लिए निकल पड़ा है। सामान्य दिन होते तो पुलिस डंडे के जोर पर पकड़कर भी नियम मनवा लेती, लेकिन कोरोना के डर से पुलिस किसी को भी डर सता रहा है कि कहीं किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में नहीं आ जाएं, जो संक्रमित हो। हालांकि बीकानेर में अभी तक एक भी पॉजिटिव मामला सामने नहीं आया है, लेकिन सुरक्षा सभी के लिए जरूरी है। इसलिए सारे एहतियात बरत रहे हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हाथ से फिसलती व्यवस्था को देखते हुए थानाधिकारियों ने कफ्र्यू को ही अंतिम उपचार माना है ताकि कोई घरों से बाहर ही नहंी निकल सके। देखना यह है कि बीकानेर के जिला कलेक्टर क्या फैसला करते हैं।

Load More Related Articles
Load More In दुनिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

कोरोना महामारी के लिए हुए लाॅक डाउन को देखते हुए बीकानेर कलक्टर ने जारी की हेल्पलाईन एप (पढें पूरी खबर)

राजस्थान राज्य अभिलेखागार ने बनाया होम डिलीवरी के लिए एप्प कोरेाना संक्रमण की रोकथाम में म…